Secretary Message

R K Agarwal

मैं बुंदेलखंड के सबसे पिछड़े व गरीब क्षेत्र टीकमगढ़ (म. प्र.) का मूल निवासी हूँ | झाँसी से बी. एस. सी. (बायो.) करने के बाद मैंने पांच साल का आयुर्वेदाचार्य का ( दिल्ली विद्यापीठ ) डिग्री कोर्स किया | चूँकि आयुर्वेदिक जगत से नाता होने के कारण जब मुझे ज्ञात हुआ कि डॉ. के. जी. द्विवेदी जी एक आयुर्वेदिक मेडिकल कॉलेज कि स्थापना करना चाहते है तो मैं भी इस पुनीत कार्य में पूर्णतया उनके साथ हो गया और डॉ. कृष्ण गोपाल द्विवेदी आयुर्वेदिक मेडिकल कॉलेज एवं चिकित्सालय सारमऊ , झाँसी संस्था की स्थापना ग्रामीण पिछड़े एवं गरीब क्षेत्र बुंदेलखंड में की | भविष्य में मेरी इच्छा चिकित्सा क्षेत्र में एम. डी. (आयुर्वेदिक), एम. बी. बी. एस. , एम. डी./ एम. एस. व अन्य पैरामेडिकल कोर्सेस शुरू करने की है ताकि बुंदेलखंड क्षेत्र ताकि बुंदेलखंड का पिछड़ापन व गरीबी दूर हो सके एवं बुंदेलखंड क्षेत्र के निवासियों को चिकित्सा एवं चिकित्सा शिक्षा का पूर्ण लाभ मिल सके | इस कार्य में मेरे सहयोगी डॉ. के.जी. द्विवेदी जी व डॉ. बाल मुकुन्द गुप्ता जी है जो कन्धा से कन्धा मिलाकर साथ चल रहे है और भविष्य में भी इसी पथ पर सभी अग्रसर रहेंगे |
धन्यवाद

राकेश कुमार अग्रवाल
अधिवक्ता
प्रबंधक / सचिव

2017 © Dr. K.G. Dwivedi Ayurvedic Medical College, Jhansi | Developed By ALL INFOTECH